अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी
फर्श किया अर्श पे जारी है हुकूमत तेरी

झोलिया खोल के बे समझे नहीं दौड़ अाए
हमे मालूम है आदत तेरी दौलत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

के वाह किया जूदो करम है शहे बतहा तेरा
के नहीं सुनता ही नहीं मांगने वाला तेरा

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

तू ही है मल्के खुदा मिलके खुदा का मालिक
राज तेरा है ज़माने में हुकूमत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

मजमए हश्र में गभराई हुई फिरती है
ढूंढने निकली है मुजरिम को शफाअत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

चैन पायेंगे तड़पते हुवे दिल महशर में
गम किसे याद रहे देख के सूरत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

देखने वाले कहा करते है अल्लाह अल्लाह
के याद आता है खुदा देख के सूरत तेरी

अल्लाह अल्लाह शहे कोनैन जलालत तेरी

हमने माना के गुनाहों की नहीं हद लेकिन
तू है उनका तो हसन तेरी है जन्नत तेरी

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.