Manqabat Lyrics

Roz e Mahshar Jo Tere Dar Pe Bulaya Jaon Lyrics

Roz e Mahshar Jo Tere Dar Pe Bulaya Jaon Lyrics   या अल्लाह या अल्लाह रोज़ ए मह़शर जो तेरे दर पे बुलाया जाऊं कितना अच्छा हो शहीदों में उठाया जाऊं मेरे रब मेरे मुक़द्दर का सितारा चमके जब तेरे अर्श के साए में बिठाया जाऊं रोज़ ए मह़शर जो तेरे दर पे बुलाया जाऊं …

Roz e Mahshar Jo Tere Dar Pe Bulaya Jaon Lyrics Read More »