जहां आक़ा की मिदहत हो गई है

जहां आक़ा की मिदहत हो गई है जहां आक़ा की मिदहत हो गई है जगह वो मिस्ले जन्नत हो गई हैमेरे आक़ा ने जो फ़रमा दिया है वो उम्मत की शरीअत हो गई है जहां आक़ा की मिदहत हो गई है जगह वो मिस्ले जन्नत हो गई है ये तेरे दूध की अज़मत है ज़हरा …

जहां आक़ा की मिदहत हो गई है Read More »