Tu Sham-e-Risalat Hai Aalam Tera Parvana Hindi Lyrics

Tu Sham-e-Risalat Hai Aalam Tera Parvana Hindi Lyrics तू शम-ए-रिसालत है, आलम तेरा परवाना तू माह-ए-नुबुव्वत है, ऐ जल्वा-ए-जानाना जो साक़ी-ए-कौसर के चेहरे से निक़ाब उठे हर दिल बने मयख़ाना, हर आँख हो पैमाना दिल अपना चमक उठे ईमान की तलअत से कर आँखें भी नूरानी ऐ जल्वा-ए-जानाना सरशार मुझे कर दे एक जाम-ए-लबालब से …

Tu Sham-e-Risalat Hai Aalam Tera Parvana Hindi Lyrics Read More »