Chal Jannat Mein Aaram Karen Hindi | चल जन्नत में आराम करें

 

 

Voice: Zafar Shahzad, Hafiz Anas Madni
Lyrics: Mufti Arshad Al Hussain

Click Here For English Lyrics
दिल कहता है

मेरी जान हैं सहाबा पहचान हैं सहाबा
आक़ा मदनी की गूंजती अज़ान हैं सहाबा

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है, इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

हों आक़ा जिसके माली
उस बाग़ की डाली डाली
सर सब्ज़ नसीबों वाली हम
विर्द ये सुबहो शाम करें

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है, इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

हैं मेरे नबी के सहाबा
इमानी कान का काबा
मरवान मुग़िरल बाबा
हम चर्चे ना क्यों सरे आम करें

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

दिल कहता है

मेरी जान हैं सहाबा पहचान है सहाबा
आक़ा मदनी की गूंजती अज़ान हैं सहाबा

करे अल्लाह विकालत जिनकी
क़ुरआन में मिदहत उनकी
हो ऐसी अज़मत जिनकी
क्यूँ मोमिन उन्हें ना सलाम करें

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है, इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

दिल कहता है

मेरी जान हैं सहाबा पहचान है सहाबा
आक़ा मदनी की गूंजती अज़ान हैं सहाबा

वो रुसदो हुदा के पैकर
मेरे प्यार वफ़ा का मह़वर
अबूबक्र-ओ-उमर, ग़नी, हैदर
दिल इन पे फ़िदा नीलाम करें

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है, इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

दिल कहता है

मेरी जान हैं सहाबा, पहचान हैं सहाबा
आक़ा मदनी की गूंजती अज़ान हैं सहाबा

है दुनिया अरशद फ़ानी
ये जान है आनी जानी
जो कुफ्र को दे आसानी
उस सोंच का पहिया जाम करें

दिल कहता है

दिल दिल दिल
दिल दिल दिल

दिल कहता है, इक काम करें
चल ज़िन्दगी सहाबा के नाम करें
हम राहे सहाबा में कटकर
चल जन्नत में आराम करें

दिल कहता है

मेरी जान हैं सहाबा, पहचान हैं सहाबा
आक़ा मदनी की गूंजती अज़ान हैं सहाबा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: