Utho Baba Mein Zainab Hoon Lyrics

 

Haye Baba ! Haye Baba ! Baba..

Mere Baba ! Baba Mere Baba ..

 

Rah Gayin Tanha Betiyan Baba

Haye ! Koofa Shahar Me

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Mere Mola Ali Ko Jis Ghari Aayi Qaza Hogi

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Nahin Kyun Bolte Baba, Bulati Hai Tumhe Zainab

Ke Sare Dard Ghurwat Ke Sunati Hai Tumhe Zainab

Tumhare Baad Sar Pe Ab Yateemi Ki Rida Hogi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Haye Baba! Haye Baba!

 

Abhi To Maa Ke Sadme Se Na Bachchon Ko Sukoo.N Aaya

Ke Teri Maut Ne Fir Se Hamare Dil Ko Tadpaaya

Yun Lagta Hai Ke Ham Pe Sitam Ki Inteha Hogi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Han Mola …

 

Ali Ki Laash Pe Kulsoom Ye Ro-Ro Ke Farmaye

Kya Us Beti Ka Jeena Hai Ke Jiska Baap Mar Jaye

Ye Sunkar Bain Dukhtar Ka Tadapti Sayyeda Hongi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Ba-Roze Eid Kalim-Go Bahot Khushiyan Manayenge

Tumhare Gham Me Ham Baba Magar Aansu Bahayenge

Batao Eid Kya Baba Yateemon Ki Bhala Hogi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Rida Sar Pe Nahin Hogi Sharabi Ham Safar Honge

Sina Ki Nok Pe Baba Tumhare Sab Pisar Honge

Jahan Bhi Jayegi Zainab Wahan Pe Karbala Hogi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Kabhi Aale Muhammad Ke Nahin Gham Ko Bhula Sakte

Hai Jab Tak Dard Seeno Me Nahin Eiden Mana Sakte

Ba-Roze Eid Bhi Mohsin Hamare Ghar Azaa Hogi

 

Utho Baba Main Zainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

Utho Baba Main Jainab Hun Ye Bibi Ki Sada Hogi

 

Recited By: Qazmi Brothers

Poet: Mohsin Ryaz Mohsin

 

Qatl Ghazi as Ka Baba Hua Hai Noha Lyrics

More Manqabat Mola Ali as (Hindi & English)

Mola Rotay Jatay Hain Lyrics (Hindi & English)

Utho Baba Mein Zainab Hoon Lyrics Hindi
हाय बाबा ! हाय बाबा ! बाबा ..

मेरे बाबा ! बाबा मेरे बाबा ..

 

रह गईँ तन्हा बेटियाँ बाबा

हाय ! कूफ़ा शहर में

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ ये बीबी की सदा होगी

 

मेरे मौला अली को जिस घड़ी आई क़ज़ा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

नहीं क्यूँ बोलते बाबा, बुलाती है तुम्हें ज़ैनब

के सारे दर्द ग़ुरवत के सुनाती है तुम्हें ज़ैनब

तुम्हारे बाद सर पे अब यतीमी की रिदा होगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

अभी तो मां के सदमे से ना बच्चों को सुकूँ आया

कि तेरी मौत ने फिर से हमारे दिल को तड़पाया

यूं लगता है के हम पे सितम की इन्तहा होगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

अली की लाश पे कुलसूम ये रो-रो के फ़रमाए

क्या उस बेटी का जीना है कि जिस का बाप मर जाए

ये सुनकर बेन दुख़्तर का तड़पती सय्यिदा होंगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

बा-रोज़े ईद कलिमा-गो बहुत खुशियां मनाएंगे

तुम्हारे ग़म में हम बाबा मगर आंसू बहाएंगे

बताओ ईद क्या बाबा यतीमों की भला होगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

रिदा सर पे नहीं होगी शराबी हम सफ़र होंगे

सिना की नोक पे बाबा तुम्हारे सब पिसर होंगे

जहां भी जाएगी ज़ैनब वहां पे कर्बला होगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

 

कभी आले मुह़म्मद के नहीं ग़म को भुला सकते

है जब तक दर्द सीनों में नहीं ईदें मना सकते

बा-रोज़े ईद भी मोहसिन हमारे घर अज़ा होगी

 

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

उठो बाबा मैं ज़ैनब हूँ, ये बीबी की सदा होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.