Ye Roza Momino Naare Jahannum Se Bachayega Lyrics

 

Ye Roza Momino Naare Jahannum Se Bachayega Lyrics
Ye Roza Momino Naare Jahannum Se Bachayega Lyrics

ये रोज़ा मोमिनो नारे जहन्नम से बचाएगा

ब-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलाएगा

Ye roza momino naare jahannum se bachayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

ख़ुदा-ए-पाक से रोज़ा हर इक को बख़्शवाएगा

ब-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलाएगा

Khuda-e-pak se roza har ik ko bakhsh-wayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

ख़ुदा ए पाक ने इस माह में नाज़िल किया कुरआं

ये लेके साथ में आया है बख़्शिश का हर इक सामां

Khuda e pak ne is maah me nazil kiya quran

Ye leke saath me aaya hai bakhshish ka har ik saama

 

है शादां खैर मख़दम के लिए हर साहिबे ईमां

इसी की बरकतों पे है यक़ीनन ये जहाँ क़ुर्बां

Hai shaadan khair makhdam ke liye saahibe iman

Isi ki barkaton pe hai yaqinan ye jahan qurban

 

ये पाबन्दे शरीअ़त के इरादों को बढ़ायेगा

बा-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलायेगा।

Ye paband e shari’at ke iradon ko badayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

मुह़म्मद मुस्त़फ़ा महबूब-ए-दाबर ने रखा रोज़ा

ह़क़ीक़त तो ये है, हर इक पयम्बर ने रखा रोज़ा

Muhammad Mustafa mahboob-e-daabar ne rakha roza

Haqiqat to ye hai har ik payabar ne rakha roza

 

उमर उस्मां अली सिद्दीक़ ए अकबर ने रखा रोज़ा

गदाओं, शाहों, और सूफ़ी क़लन्दर ने रखा रोज़ा

Umar, usman, ali, siddiq-e-akbar ne rakha roza

Gadaon, shahon, aur sufi qalandar ne rakha roza

 

ये रोज़ा नफ़्स को मज़बूत ओ मुस्तहकम बनायेगा

बा-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलायेगा।

Ye roza nafs ko mazboot o mustehkam banayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

दें हर इक को नसीहत रोज़ा रखने की ख़ुदा वाले

रखें रोज़ा ब-सद फ़रहत मुह़म्मद मुस्त़फ़ा वाले

Den har ik ko nasihat roza rakhne ki khuda wale

Rakhe roza ba-sad farhat Muhammad Mustafa wale

 

थे रोज़ादार प्यारे मोमिनों वो करबला वाले

ना छोड़ें भूल से रोज़ा कभी सब्रो रज़ा वाले

The rozadar pyare momino wo karbala wale

Na chhoren bhool se roza kabhi sabr o raza wale

 

ये रोज़ा हर किसी की सोई क़िस्मत को जगायेगा

बा-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलायेगा।

Ye roza har kisi ki soyi qismat ko jagayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

नज़ा के वक़्त भी रोज़ा जनाबे फ़ातिमा ज़हरा

हुए रोज़े की हालत में मेरे ग़ौसुल वरा पैदा

Naza ke waqt bhi roza janab e Fatima zahara

Huye roze ki haalat me mere ghausul wara paida

 

मलंगों, मस्त, अब्दालो क़ुतुब ने भी रखा रोज़ा

रखें रोज़ा निज़ामी साबिरी और हज़रत ए ख़्वाजा

Malango,mast,abdaalon, qutub ne bhi rakha roza

Rakhen roza nizaami sabiri aur hazrat-e-khwaja

 

जो रोज़ा रखता है अल्लाह की नेअ़मत को पायेगा

बा-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलायेगा।

Jo roza rakhta hai allah ki nemat ko payega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

 

बहारें लायक़ ए दीदार होती हैं गुलिस्तां की

फ़ज़ीलत है बड़ी ऐ मोमिनों इस माहे रमजां की

Baharen layaq e deedar hoti hain gulistan ki

Fazilat hai badi ae momino is maahe ramza.n ki

 

परख होती है इस माहे मुबारक में ही ईमां की

इसी में आज़माइश होती है सच्चे मुस्लमां की

Parakh hoti hai is maahe Mubarak me hi iman ki

Isi me aazmaaish hoti hai sache musalman ki

 

ये रम्जां ताज सुन ले रह़मत ए ह़क़ लेके आयेगा

बा-रोज़े हश्र रोज़ादारों को जन्नत दिलायेगा

Ye rmaza taj sun le rahmat e haq leke aayega

Ba-roze hashr rozadaron ko jannat dilayega

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.