ये यहाँ लिखा है

ये यहाँ लिखा है हम नहीं लड़ने वाले, न ही झगड़ने वाले जो हवालों से साबित है बात वो ही करते हैं हक़ बात पे जीते हैं, हक़ बात पे मरते हैं तुम जो कहते हो के मीलाद मनाना है ग़लत लाओ फिर अपने हवालों से ही क़ाइल कर दो कल इसी बात को ले …

ये यहाँ लिखा है Read More »