नाते पाक

 

नाते पाक – Naat e Paak

है दिल को मिरे जुस्तजू ए मुहम्मद।
मुझे जाने दो अब तो सू ए मुहम्मद।

न दौलत की हाजत न शौहरत की चाहत।
मुझे है फ़क़त आर्जू ए मुहम्मद।

यूँ अफ़ज़ल है मेराज की शब के इसमें।
ख़ुदा से हुई गुफ़्तगू ए मुहम्मद।

निगाहों में है उनके रोज़े का मन्ज़र।
ख़यालों में है जब से रु ए मुहम्मद।

करूँ क्यों न मिदह़त पसीने की उनके।
गुलाबों से अफ़ज़ल है बू ए मुहम्मद।

ह़बीब ए ख़ुदा हैं वो शाहे उमम हैं।
ये है इज़्ज़त ओ आबरू ए मुहम्मद।

फ़राज़ अब तो ये ही तमन्ना है दिल की।
निगाहों से देखूँ मैं कू ए मुह़म्मद।

सरफ़राज़ हुसैन फ़राज़ पीपलसाना मुरा०

शब ए बारात शायरी इन हिंदी | शब-ए-बरात नात शरीफ़
खुबसूरत नाते पाक – Khoobsurat Naat E Pak

सुब्हो सब से आला है शाम सबसे आ़ला है।
मेरे कमली वाले का धाम सबसे आ़ला है।

बाद रब के क़ुरआँ में आप ही का है चर्चा।
इस लिए ही आक़ा का नाम सबसे आ़ला है।

आसियों को मेहशर में आप जो पिलायेंगे।
वो ही हौज़े कौसर का जाम सबसे आ़ला है।

हर क़िले को बातिल के आप ने गिरा डाला।
आप ही का आ़लम में काम सबसे आ़ला है।

कुफ़्र पर जो ग़ालिब था आज तक वही जग में।
तीन सौ बहत्तर का लाम सबसे आ़ला है।

यह भी क़ौल है उनका ख़र्च हो जो मुफ़्लिस पर।
मोमिनो यहाँ वो ही दाम सबसे आ़ला है।

मैं फ़राज़ अब सबसे सिर्फ़ ये ही कहता हूँ।
आप का ही इस जग में गाम सबसे आ़ला है।

सरफ़राज़ हुसैन फराज़ पीपलसाना मुरादाबाद।

Hindi naat | Mehfil shab e barat | Naat sharif all
नात शरीफ़ हिंदी में – Naat Sharif Hindi Mein

आ़ला है ज़माने में किरदार मुहम्मद का।
दीवाना हुआ यूँ ही संसार मुह़म्मद का।

करता है कोई जब भी अज़कार ए नबी लोगो।
पाता है सुकूँ उस दम बीमार मुह़म्मद का।

या रब है दुआ़ तुझसे सुन ले तू स़दा मेरी।
ता ह़श्र रहे ताज़ा गुलज़ार मुह़म्मद का।

ज़ुल्मत के अँधेरों को पल भर में मिटा डाले।
हो जाए अगर आशिक़ बेदार मुह़म्मद का।

आशिक़ है भला किसका पूछे जो कोई मुझसे।
हो नाम मिरे लब पर हर बार मुह़म्मद का।

पढ़ते हैं अक़ीदत से जो उनपे दरूद अकसर।
ख़्वाबों में उन्हें होगा दीदार मुह़म्मद का।

आसी की फ़राज़ अब तो बस ये ही तमन्ना है।
देखूँ मैं निगाहों से दरबार मुह़म्मद का।

सरफ़राज़ हुसैन फ़राज़ पीपलसाना मुरादाबाद

दूसरी बेहतरीन नात शरीफ़ के लिए इस लिंक पर दबाएँ

मदीने को जाने के दिन आ रहे हैं-लिखी हुई नाते | Naat Sharif Hindi

Read more और पढ़ें:

मदीने के सपने सजाने लगे हैं-लिखी हुई नातें-प्रेमनाथ बिस्मिल

मदीने को जाने के दिन आ रहे हैं-लिखी हुई नाते | Naat Sharif

मदीने के शाम-ओ-सहर देखते हैंं | शबे बरात नात शरीफ लिखी हुई
इबादत की रात शबे ए बारात नात शरीफ़ हिंदी | Shab e Barat Naat

नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में | नाते पाक अच्छी-अच्छी | Naat Pak

खूबसूरत नाते पाक | नात शरीफ | Naat Sharif lyrics in Hindi

या नबी आप सा कोई प्यारा नहीं-नाते पाक हिंदी में-Naat sharif

जिन्हें है मुहम्मद की मिदहत की आदत नाते पाक हिंदी में लिखी

सलाम ए अ़क़ीदत sarkare do jahan ke naam padiye durood o salam

नबी की याद नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में-Shab E Meraj Naat Paak

शबे-मेराज़ पर अच्छी-अच्छी नात शरीफ Shab E Meraj Naat sharif

 

जिसने आक़ा की पैरवी कर ली-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

आती है याद आपकी बस हर घड़ी मुझे-नात शरीफ हिंदी में

अपना दरबार मुझको दिखा दीजिए-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

मदीने मे आक़ा दवा दे रहे हैं-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

ख़ुश बयाँ खुश अदा की आमद है-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

ईमान की ज़िया ये मयस्सर नबी से है-नबी नबी नात शरीफ-Naat Nabi

जन्नतुल फ़िरदौस के बागो-बहार अपनी जगह-नात हिंदी में लिखी हुई

नात शरीफ लिरिक्स इन हिंदी-Naat Sharif Lyrics in Hindi

नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई-Naat Sharif-Nat sharif

दरबारे मोहम्मद के दरका जो सवाली है नात शरीफ़ Naat Sharif

भोजपुरी नात शरीफ नात शरीफ़ हिन्दी और भोजपुरी में Bhojpuri Naat Sharif

नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई Naat Sharif In Hindi Lyric नबी की नात शरीफ

नाते-आक़ा पढ़ो दोस्तो|अच्छी-अच्छी नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई|नाते रसूल

नात-ए-रसूल-ए-खुदा-नात शरीफ अच्छी-अच्छी नात शरीफ लिरिक्स इन हिंदी |Naat

नात ए शरीफ़ लिरिक्स-हिंदी-Naat Lyrics in Hindi-Best Naat Sharif-نعت شریف

सितम यज़ीद ने कर्बल में ढाए हैं क्या क्या|best-hindi-ur-naat-collection

New Heart Touching Beautiful Naat Sharif नात शरीफ हिंदी में

हस्बी रब्बी जल्लल्लाह नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में

हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे अच्छी अच्छी नात शरीफ हिंदी में लिखी
यक़ीनन वो जन्नत का हक़दार होगा, नात शरीफ हिंदी में लिखी

 

हस्बी रब्बी जल्लल्लाह नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में | लिखी हुई नाते
लब पर है बस यही सदा, ला-इलाहा इल्लल्लाह
फूलों ने कहा, पत्तों ने कहा, ला-इलाहा इल्लल्लाह
हस्बी रब्बी जल्लल्लाह माफी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह ला-इलाहा इल्लल्लाह
तेरे सदक़े से आक़ा सारे जहाँ को दीन मिला
बे-दीनों ने कलमा पड़ा ला-इलाहा इल्लल्लाह
हस्बी रब्बी जल्लल्लाह माफी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह ला-इलाहा इल्लल्लाह
ला-इलाहा इल्लल्लाह, ला-इलाहा इल्लल्लाह
ला-इलाहा इल्लल्लाह, ला-इलाहा इल्लल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह, नाते पाक अच्छी अच्छी
आप के जैसा कौन यहाँ इस दुनिया में आया है
जिस ने आप को दिल से चुना उसने सब कुछ पाया है
अल्लाह के वो प्यारे नबी, अल्लाह को ना भूले कभी
हर पल, हर दम यही कहा, ला-इलाहा इल्लल्लाह
हस्बी रब्बी जल्लल्लाह माफी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह ला-इलाहा इल्लल्लाह
अल्लाह के पैग़ाम को हम तक पहुँचाया किसने?
खन्दा-पेशानी रख कर दीन को फ़ैलाया किसने?
क़ुफ्र की ज़ुल्मत दूर हुई, हक़ का फेहराया झंडा
चारो तरफ गूंजी ये सदा, ला-इलाहा इल्लल्लाह
हस्बी रब्बी जल्लल्लाह माफी क़ल्बी गैरुल्लाह
नूरे मुहम्मद सल्लल्लाह ला-इलाहा इल्लल्लाह
ला-इलाहा इल्लल्लाह, ला-इलाहा इल्लल्लाह
ला-इलाहा इल्लल्लाह, ला-इलाहा इल्लल्लाह
ला-इलाहा इल्लल्लाह, हिंदी में नात
अहले-ईमानों पर वो ज़ुल्मो-तशद्दुद करते थे
शेहरे अरब में रहते थे, बुत की इबादत करते थे
अहले-क़ुफ़र को मक्का से भागने का रस्ता न मिला
चारो तरफ जब गूँज उठा, ला-इलाहा इल्लल्ला

हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे अच्छी अच्छी नात शरीफ हिंदी में लिखी
मरहबा मरहबा मरहबा मुस्तफ़ा
मरहबा मरहबा मरहबा मुस्तफ़ा
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
जश्ने-विलादत की रोनक़ पे यारों
मरते हैं सुन्नी मरते रहेंगे
अपने नबी की अज़मत का चर्चा
करते हैं सुन्नी करते रहेंगे
Hum Apne Nabi Pak Se Yun Pyar Karenge Lyrics in Hindi

कुछ जलने वाले देख के केहते हैं हमेशा
सरकार की आमद पे लगाते हो क्यूँ पैसा
ये पैसा तो क्या चीज़ है हम घर भी लुटादें
कोई नहीं जहां में सरकार के जैसा
नात शरीफ की किताब हिंदी में
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
मेरे सरकार आए, मेरे दिलदार आए
मेरे सरकार आए, मेरे दिलदार आए
मेरे नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
प्यारे नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
लजपाल नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
ग़मख़्वार नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में
साहिबे-मेअराज नबी
आसियों की लाज नबी
नबीयों के सरताज नबी
कल भी थे और आज नबी
दो जहाँ के राज वाले मेरे नबी आ गए
हर ख़ारजी फसादी वतन से भगाएंगे
पढ़ के दुरूद सब को मीलादि बनाएंगे
लाएंगे हम हुज़ूर का इस्लाम तख़्त पर
ला दीनियत के सारे बुतों को गिराएंगे
नात शरीफ लिरिक्स इन हिंदी
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
तकलीफ होती है तुझे मिर्चें भी लगती हैं
जब बारह्वी पे लाइटों से गलियां भी सजती हैं
क्यूँ चिड़ता है तू देख के झंडों की बहारें
ताज़िमे-नबी हो तो सभी अच्छी लगती हैं
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
निसार तेरी चहल-पहल पर, हज़ारों ईदें रबीउल-अव्वल
सिवाए-इब्लीस के जहाँ में सभी तो ख़ुशियाँ मना रहे हैं
लालच न दो, हम नामे-मुहम्मद पे मरेंगे
मीलाद पे समझौता किया है न करेंगे
बर्दाश्त ना करेंगे जुलूसों पे रुकावट
मिलादे-मुहम्मद का मिशन जारी रखेंगे
बेहतरीन नात ए पाक
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
तेरा खावां में तेरे गीत गावां या रसूलल्लाह
तेरा मीलाद मैं क्यूँ ना मनावां या रसूलल्लाह
तालीम पेहले दूंगा मुहम्मद के जश्न की
तेहज़ीब सिखाऊंगा मुहम्मद के जश्न की
विरसे मे छोड़ जाऊंगा मीलाद की लगन
मेरे भी बच्चे जश्ने-विलादत मनाएंगे
खुबसूरत नात शरीफ
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
मेरे नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
प्यारे नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
लजपाल नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
ग़मख़्वार नबी आ गए मरहबा या मुस्तफ़ा
हम अपनी मुहब्बत का यूँ ऐलान करेंगे
हम जश्ने-मुहम्मद पे फ़िदा जान करेंगे
मीलाद की रैलियो-जुलूसों में ले जाकर
औलाद भी सरकार पे क़ुर्बान करेंगे
लिखी हुई नाते
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
क़ीमत जहाँ में अपनी उजागर गिराओगे
आक़ा को छोड़ कर कभी इज़्ज़त न पाओगे
मज़बूत करलो रिश्ता नबी से तो जियोगे
रिश्ता नबी से तोड़ोगे तो टूट जाओगे
हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे
हर हाल में सरकार का मीलाद करेंगे
नाते पाक हिंदी में
साहिबे-मेअराज नबी
आसियों की लाज नबी
नबीयों के सरताज नबी
कल भी थे और आज नबी
दो जहाँ के राज वाले मेरे नबी आ गए
Read more और पढ़ें:

मदीने के सपने सजाने लगे हैं-लिखी हुई नातें-प्रेमनाथ बिस्मिल

मदीने को जाने के दिन आ रहे हैं-लिखी हुई नाते | Naat Sharif

मदीने के शाम-ओ-सहर देखते हैंं | शबे बरात नात शरीफ लिखी हुई

इबादत की रात शबे ए बारात नात शरीफ़ हिंदी | Shab e Barat Naat

नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में | नाते पाक अच्छी-अच्छी | Naat Pak

खूबसूरत नाते पाक | नात शरीफ | Naat Sharif lyrics in Hindi

या नबी आप सा कोई प्यारा नहीं-नाते पाक हिंदी में-Naat sharif

जिन्हें है मुहम्मद की मिदहत की आदत नाते पाक हिंदी में लिखी

सलाम ए अ़क़ीदत sarkare do jahan ke naam padiye durood o salam

नबी की याद नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में-Shab E Meraj Naat Paak

शबे-मेराज़ पर अच्छी-अच्छी नात शरीफ Shab E Meraj Naat sharif

 

जिसने आक़ा की पैरवी कर ली-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

आती है याद आपकी बस हर घड़ी मुझे-नात शरीफ हिंदी में

अपना दरबार मुझको दिखा दीजिए-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

मदीने मे आक़ा दवा दे रहे हैं-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

ख़ुश बयाँ खुश अदा की आमद है-लिखी हुई नाते-Naat Sharif Lyrics

ईमान की ज़िया ये मयस्सर नबी से है-नबी नबी नात शरीफ-Naat Nabi

जन्नतुल फ़िरदौस के बागो-बहार अपनी जगह-नात हिंदी में लिखी हुई

नात शरीफ लिरिक्स इन हिंदी-Naat Sharif Lyrics in Hindi

नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई-Naat Sharif-Nat sharif

दरबारे मोहम्मद के दरका जो सवाली है नात शरीफ़ Naat Sharif

भोजपुरी नात शरीफ नात शरीफ़ हिन्दी और भोजपुरी में Bhojpuri Naat Sharif

नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई Naat Sharif In Hindi Lyric नबी की नात शरीफ

नाते-आक़ा पढ़ो दोस्तो|अच्छी-अच्छी नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई|नाते रसूल

नात-ए-रसूल-ए-खुदा-नात शरीफ अच्छी-अच्छी नात शरीफ लिरिक्स इन हिंदी |Naat

नात ए शरीफ़ लिरिक्स-हिंदी-Naat Lyrics in Hindi-Best Naat Sharif-نعت شریف

सितम यज़ीद ने कर्बल में ढाए हैं क्या क्या|best-hindi-ur-naat-collection

New Heart Touching Beautiful Naat Sharif नात शरीफ हिंदी में

हस्बी रब्बी जल्लल्लाह नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में

हम अपने नबी पाक से यूँ प्यार करेंगे अच्छी अच्छी नात शरीफ हिंदी में लिखी
यक़ीनन वो जन्नत का हक़दार होगा, नात शरीफ हिंदी में लिखी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.