Barhe jo kar ke woh suye Shahe manqabat Lyrics

 

Naat Khwan: Owais Raza Qadri

Barhe jo kar ke woh suye Shahe Anaam…, Salam
Sadaa ye aati thi har samt se Salam-salam

बढ़े जो करके वो सूए शहे-अनाम .. सलाम
सदा ये आती थी हर सम्त से …सलाम-सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Bada hujoom tha Taibah ki pehli manzil per
Khade the Raah me karne ko khaas-o-aam Salam
Barhe Jo Karke Woh

बड़ा हुजूम था त़यबा की पहली मंज़िल पर
जहां पहुंचते थे करता था वो मकाम सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Chale Husain Jo Taibah se Karbala ki taraf
Jahan pahunchte the karta tha woh maqaam Salaam
चले हुसैन जो त़यबा से करबला की तरफ़
जहाँ पहुंचते थे करता था वो मक़ाम सलाम

 

Bada hujoom tha Taibah ki pehli manzil per
Khade the Raah me karne ko khaas-o-aam Salam
Barhe Jo Karke Woh

बड़ा हुजूम था त़यबा की पहली मंज़िल पर
खड़े थे राह में करने को खास-ओ-आम सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Zameen-e-manzil-e-maqsood ne qadam choome
Falaq ne Door se jhuk kar kaha Imam Salam
Barhe Jo Karke Woh

ज़मीन-ए-मंज़िल-ए-मक़सूद ने क़दम चूमे
फ़लक़ ने दूर से झुक कर कहा इमाम.. सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Shah woh jise sab Shah Shah kehte hain

Shah Ast Hussain Badshah Ast Hussain
Di Ast Hussain Di Panah Ast Hussain
Sar Daad Na Daad Dast Dar Daste Yazeed
Haqqa Ke Binaye La-Ilaah Ast Hussain

Shah woh jise sab Shah Shah kehte hain,
Imam woh jise karta hai har Imam…, Salaam
Barhe Jo Karke Woh

शाह वोह जिसे सब शाह-शाह कहते हैं

शाह अस्त हुसैन बादशाह अस्त हुसैन
दीं अस्त हुसैन दीं पनाह अस्त हुसैन
सर दाद न दाद दस्त दर दस्ते यज़ीद
हक़्क़ा के बिनाए ला-इलाह अस्त हुसैन

शाह वोह जिसे सब शाह-शाह कहते हैं
इमाम वोह जिसे करता है हर इमाम… सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Tamam raat unhen bhejti rahi Hoorein
Kisi Ke Naam Durood aur kisi Ke naam Salam
Barhe Jo Karke Woh

तमाम रात उन्हें भेजतीं रहीं हूरें
किसी के नाम दुरुद और किसी के नाम सलाम
बढ़े जो करके वोह

 

Unhein salam Munawwar ye chahta hai jee,
Tamam umr likhon aur na ho tamam…, Salaam

उन्हें सलाम मुनव्वर ये चाहता है जी
तमाम उम्र लिखूँ और न हो तमाम सलाम

 

Barhe jo kar ke wo suye Shahe Anaam…, Salam
Sadaa ye aati thi har samt se…, Salam-salam

बढ़े जो करके वो सूए शह-ए-अनाम .. सलाम
सदा ये आती थी हर सम्त से …सलाम सलाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.