Dil Thikana Mere Hussain Ka Hai Lyrics

Dil Thikana Mere Hussain Ka Hai Lyrics

 

 

Dil Thikana Mere Hussain Ka He

Yeh Khazana Mere Hussain Ka He

 

Mustafa Ka Hua He Sajda Taweel

Kya Satana Mere Hussian Ka He

 

Masjid E Nabvi Mein Dauran E Namaz

Ana Jana Mere Hussian Ka He

 

Jiski Ankhon Ne Rab Ko Dekha He

Eesa Nana Mere Hussain Ka He

 

Tum Kaha Karte Ho Jise Kafir

Wo Toh Dada Mere Hussain Ka He

 

Jis Ne Tukde Kiye The Marhab Ke

Eesa Baba Mere Hussain Ka He

 

Chahe Aee Yazeed Jaise Hazar

Har Zamana Mere Hussain Ka He

 

Jisko Quran Ne Sabse Ala Kaha

Wo Gharana Mere Hussain Ka He

 

Chand Taron Se Bhi Ziyada Haseen

Muskurana Mere Hussain Ka He

 

Sar JhukAate Hain Jibraeel Jahan

Ashiyana Mere Hussain Ka He

 

Al E Imran Kaha Gea He Jise

Wo Gharana Mere Hussain Ka He

 

Karbala Bhi Toh Ek Arsh Hi He

Ye Thikana Mere Hussain Ka He

 

Apne Nana Ke Deen Ki Khatir

Sar Katana Mere Hussain Ka He

 

Dediya Khud Ko Bhi Khuda Ke Liye

Kya Lutana Mere Hussain Ka He

 

Bheek Lete Hain Awliya Bhi Jahan

Astana Mere Hussain Ka He

 

Jis Jagah Na Gea Koi Sabir

Agey Jana Mere Hussain Ka He

 

Wo Deewana Pasand He Sabir Ko

Jo Deewana Mere Hussain Ka He

 

 

 

दिल ठिकाना मेरे हुसैन का है / Dil Thikana Mere Husain Ka Hai

 

क़त्ले-हुसैन अस्ल में मर्गे-यज़ीद है
इस्लाम ज़िंदा होता है हर करबला के बाद

मेरे हुसैन… मेरे हुसैन…

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

दिल ठिकाना मेरे हुसैन का है
हर ज़माना मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

जिस के साये में काएनात है सब
ऐसा नाना मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

ये जो काबा है तुम न समझोगे
घर पुराना मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

मारे एक सब्र से हज़ार अ़दू
क्या निशाना मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

बाब-ए-ख़ैबर जिसने उखाड़ दिया
ऐसा बाबा मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

मेरे घर में चराग़ जलते हैं
आना जाना मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है
मेरे हुसैन का है, मेरे हुसैन का है

मेरे हुसैन… मेरे हुसैन…

नातख्वां:
मिलाद रज़ा क़ादरी

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: