Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai Lyrics

 

 

Nabi Ka Zikr Hi ..

Salle ala nabiyena, salle ala muhammadin
Salle ala shafieyna, salle ala muhammadin

 

Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai
Nabi Ki baat Hi Khuda Ki Baat Hai
Yadullah Keh Diya To Saabit Ho Gaya
Nabi Ka Haath Hi Khuda Ka Haath Hai

Nabi Ka Zikr Hi …

 

Hum Pe Aisi Ataa Hai Nabi ki
Bhool jaayen To Kaise

Hum Ko Khatre Darayenge Kaise
Paas Aayen Ye Kaise

Ye Aankhen Nam Nahi
Koi Bhi Gham Nahi
Karam Huzoor Ka Hamare Saath Hai

 

Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai
Nabi Ki baat Hi Khuda Ki Baat Hai
Yadullah Keh Diya To Saabit Ho Gaya
Nabi Ka Haath Hi Khuda Ka Haath Hai

Nabi Ka Zikr Hi …

Salle ala nabiyena, salle ala muhammadin
Salle ala shafieyna, salle ala muhammadin

 

Unka Sadqa Ki Mehke Huwe Hain
Do Jahaan Ke Nazaare

Unke Faiz-o-Karam Se Hain Raushan

Kehkashaa Aur taare

Ye Saari Raushni Ye Saari Dil Kashi
Mere Nabi Ke Husn Ki Zakaat Hai

 

Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai
Nabi Ki baat Hi Khuda Ki Baat Hai
Yadullah Keh Diya To Saabit Ho Gaya
Nabi Ka Haath Hi Khuda Ka Haath Hai

Nabi Ka Zikr Hi ….

Salle ala nabiyena, salle ala muhammadin
Salle ala shafieyna, salle ala muhammadin

 

Be Amal Hun Magar Mere Aaqa
Nazre Rahmat Karenge

Mere Jaise Gunahgaar Ki Bhi
Wo Shafa’at Karenge

Bade Azeem Hain Bade Kareem Hain
Wo Jinke Haath Me Meri Nijaat Hai

 

Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai
Nabi Ki baat Hi Khuda Ki Baat Hai
Yadullah Keh Diya To Saabit Ho Gaya
Nabi Ka Haath Hi Khuda Ka Haath Hai
Nabi Ka Zikr Hee ….

Salle ala nabiyena, salle ala muhammadin
Salle ala shafieyna, salle ala muhammadin

 

Wo jo Keh de Wo hoke Rahega
Yehi Kahta Hai Qur’aan

Unka Farooqui Zinda Hain Farmaan
Ye Hamara Hai Imaan

Agar Wo Din Kahen To Raaten Din Bane
Kahen Wo Din Ko Raat To Wo Raat Hai

 

Nabi Ka Zikr Hi Khuda Ka zikr Hai
Nabi Ki baat Hi Khuda Ki Baat Hai
Yadullah Keh Diya To Saabit Ho Gaya
Nabi Ka Haath Hi Khuda Ka Haath Hai
Nabi Ka Zikr Hee ….

Salle ala nabiyena, salle ala muhammadin
Salle ala shafieyna, salle ala muhammadin

Nabi Ka Zikr Hi Hindi Lyrics
नबी का ज़िक्र ही ..

सल्ले अ़ला नबीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन
सल्ले अ़ला शफ़ीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन

 

नबी का ज़िक्र ही ख़ुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही ख़ुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही ख़ुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही …

 

हम पे ऐसी अ़ता है नबी की
भूल जाएं तो कैसे ..

हमको ख़तरे डराएंगे कैसे
पास आएंगे कैसे ..

ये आंखें नम नहीं कोई भी ग़म नहीं
करम हुज़ूर का हमारे साथ है ..

 

नबी का ज़िक्र ही ख़ुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही ख़ुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही ख़ुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही …

सल्ले अ़ला नबीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन
सल्ले अ़ला शफ़ीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन

 

उनका सदक़ा ही महके हुए हैं
दो जहां के नज़ारे

उनके फैज़-ओ-करम से हैं रौशन
कहकशा और तारे

ये सारी रौशनी ये सारी दिलकशी
मेरे नबी के हुस्न की ज़कात है

 

नबी का ज़िक्र ही ख़ुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही ख़ुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही ख़ुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही …

सल्ले अ़ला नबीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन
सल्ले अ़ला शफ़ीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन

 

बे-अमल हूं मगर मेरे आक़ा
नज़रे रह़मत करेंगे

मेरे जैसे गुनाहगार की भी
वो शफ़ाअ़तत करेंगे

बड़े अज़ीम हैं बड़े करीम हैं
वो जिनके हाथ में मेरी निजात है

 

नबी का ज़िक्र ही ख़ुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही ख़ुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही ख़ुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही ….

सल्ले अ़ला नबीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन
सल्ले अ़ला शफ़ीयेना, सल्ले अ़ला मुह़म्मदिन

 

वो जो कह दें वो होके रहेगा
यही कहता है क़ुरआं

उनका फारूक़ी ज़िन्दा है फ़रमान
ये हमारा है ईमान

अगर वो दिन कहें ! तो रातें बने
कहें वो दिन को रात ! तो वो रात है

 

नबी का ज़िक्र ही ख़ुदा का ज़िक्र है
नबी की बात ही ख़ुदा की बात है
यदुल्लाह कह दिया तो साबित हो गया
नबी का हाथ ही ख़ुदा का हाथ है

नबी का ज़िक्र ही ….

 

nabi ka zikr hi naat with lyrics
Nabi Ka Zikr Hi Naat Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.