Aqle bashar na samjhegi rutba hussain ka lyrics

 

Aqle bashar na samjhegi rutba hussain ka manqabat lyrics

अक़्ल ए बशर ना समझे गी रुत्बा हुसैन का

Aqle bashar na samjhegi rutba hussain ka
Kouno makan me hota hai charcha hussain ka

 

अक़्ल ए बशर ना समझे गी रुत्बा हुसैन का
कौनों मकं में होता है चर्चा हुसैन का

 

Allah ye maqam ye rutba hussain ka
Sar kat gaya tha phir bhi tha ooncha hussain ka

 

अल्लाह ये मक़ाम ये रुत्बा हुसैन का
सर कट गया था फिर भी था ऊंचा हुसैन का

 

Kal usko nana jaan se wo bakhsh bayenge
Jisne sajaya aaj ye jalsa hussain ka

 

कल उसको नाना जान से वो बख़्शबायेंगे
जिसने सजाया आज ये जलसा हुसैन का

Karbobala ke tapte huye reg-zaar par
Ummat ke waste tha wo sajda hussain ka

 

कर्बोबला के तपते हुए रेग-ज़ार पर
उम्मत के वास्ते था वो सज्दा हुसैन का

 

Gairon se maang ne ki zaroorat hai kya hamen
Logon hamen hai kaafi sahara hussain ka

 

ग़ैरों से मांगने की ज़रूरत है क्या हमें
लोगों हमें है काफ़ी सहारा हुसैन का

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.