Sabir piya ka urs manayenge lyrics

 

 

Sabir piya ka urs manayenge lyrics hindi

साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

Din barah rabiul awwal ka Jis shan se aaya hai
Aawo chalo diwano sabir ne bulaya hai

दिन बारह रबी उल अव्वल का जिस शान से आया है
आओ चलो दीवानो साबिर ने बुलाया है

 

Jhoomenege nachenge masti me gayeinge
Sabir piya ka urs manayenge

झूमेंगे नाचेंगे मस्ती में गाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Rahmat ki barish hai sabir ke angna
Daman ko khushiyon se apne tu bharna
Noorani kaliyar nagariya me jayenge
Sabir piya ka urs manayenge

रहमत की बारिश है साबिर का अंगना
दामन को खुशियों से अपने तू भरना
नूरानी कलियर नगरिया में जाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Aaye hein mele mein mast o qalandar
Masti mein kahte hein shah o tawangar
Rangat mein sabir ki tan-man rangaeinge
Sabir piya ka urs manayenge

आए हैं मेले में मस्त ओ क़लंदर
मस्ती में कहते हैं शाह-ओ-तवन्गर
रंगत में साबिर की तन मन रंगायेंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Hamko bulaya hai sabir wali ne
Payi hein mann ki muradein sabhi ne
Us dar se taqdeer apni banayenge
Sabir piya ka urs manayenge

हमको बुलाया है साबिर वली ने
पाई हैं मन की मुरादें सभी ने
उस दर से तक़दीर अपनी बनाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Aayi hai kaliyar mein waliyon ki toli
Sabir ki nisbat mein duniya ye boli
Mangton pe sadqa nabi ka lutaeinge
Sabir piya ka urs manayenge

आई है कलियर में वलियों की टोली
साबिर की निस्बत में दुनिया ये बोली
मंगतों पे सदक़ा नबी का लुटाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Usman haroon khwaja piya bhi
Waris ali aaye khusro nizami
Sab mil ke sabir ki mahfil sajaeinge
Sabir piya ka urs manayenge

उस्मान हारुन ख्वाजा पिया भी
वारिस अली आए ख़ुसरो निज़ामी
सब मिलके साबिर की महफ़िल सजाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Haaji ali milne mumbai se aaye
Sougaat taajul-wara Bhi hein laaye
Ye boo ali shah qalandar bhi gayenge
Sabir piya ka urs manayenge

हाजी अली मिलने मुंबई से आए
सौगात ताजुलवरा भी हैं लाए
ये बू अली शाह कलंदर भी गाएंगे
साबिर पिया का उस मनाएंगे

 

Sabki zaban par hai ye zikr jaari
Chahat mein kahti hai ye duniya saari
Parwane sabir pe jaan lutaeinge
Sabir piya ka urs manayenge

सबकी जुबां पर है ये ज़िक्र जारी
चाहत में कहती है ये दुनिया सारी
परवाने साबिर पे जान लुटायेंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Noorani manzar hai kya pyara-pyara
Dulha bana aaj sabir hamara
Saarey aqidat se chadar chadhaeinge
Sabir piya kaa urs manayenge

नूरानी मन्ज़र है क्या प्यारा प्यारा
दूल्हा बना आज साबिर हमारा
सारे अक़ीदत से चादर चढ़ाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Kaliyar ke sabir ji hein nahar wale
Baba farid ki goud ke paale
Balbal tumhi pe ham balihari jayenge
Sabir piya ka urs manayenge

कलियर के साबिर जी हैं नहर वाले
बाबा फ़रीद की गोद के पाले
बल बल तुम ही पे हम बलिहारी जाएंगे
साबिर पिया का उस मनाएंगे

 

Chamcham chamakta hai noorani rouza
Dekho jidhar bhi, hai unka hi jalwa
Rahmat ke sawan mein ham sab nahayenge
Saabir piya ka urs manaeinge

चमचम चमकता है नूरानी रौज़ा
देखो जिधर भी है उनका ही जल्वा
रहमत के सावन में हम सब नहाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनायेंगे

 

Hasni hussaini hein sabir hamare
Moula ali ke nabi ke hein pyare
Hamko khuda se yaqinan milayenge
Saabir piya ka urs manaeinge

हसनी हुसैनी हैं साबिर हमारे
मौला अली के नबी के हैं प्यारे
हमको खुदा से यकीनन मिलाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

 

Akram aur Aslam Mubarak bhi hazir
Sun lo sabhi araj o mere sabir
Tariq chalo unke langar ko khayenge
Saabir piya ka urs manaeinge

अकरम और असलम मुबारक भी हाज़िर
सुन लो सभी अरज ओ मेरे साबिर
तारिक़ चलो उनके लंगर को खाएंगे
साबिर पिया का उर्स मनाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.