Jashan ka manzar tha naat lyrics

 

 

Jashan ka manzar tha naat lyrics Hindi

जश्न का मन्ज़र था माहौल सुहाना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Jashan ka manzar tha maahol suhana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

फ़र्श पे नग़मे थे आक़ा की रिसालत के
अर्श पे चर्चे थे आक़ा की अज़मत के
Farsh pe naghme the aaqa ki risalat ke
Arsh pe charche the aaqa ki azmat ke

 

हूरों के लब पर खुशियों का तराना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Huron ke labon par khushiyon ka tarana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

रुत बदल जाए रात सवर जाए
हुक्म ख़ुदा का हुआ वक़्त ठहर जाए
Rut badal jaye raat sawar jaaye
Hukm khud ka hua waqt thahar jaye

 

रुक गया फ़ौरन जो गर्दिश में ज़माना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Ruk gaya fouran jo gardish me zamana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

मस्जिद ए अक़्सा में क्या मन्ज़र थे प्यारे
पीछे क़तारों में हाज़िर थे नबी सारे
Masjid e aqsa me kya manzar the pyare
Peechhe qataron me hazir the nabi sarey

 

आगे मुसल्ले पर सुल्तान ए ज़माना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Aage musalle par sultan e zamana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

मन्ज़िल ए सिदरा पर जिब्रील ने अर्ज़ किया
शाहे दो आलम मैं आगे नहीं चल सकता
Manzil e sidra par jibreel ne arz kiya
Shaahe do aalam main aage nahin chal sakta

 

ये ही हद मेरी, यही मेरा ठिकाना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Ye hi had meri, yehi mera thikana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

नूर में फारूक़ी डूबा ये जहां होगा
वक़्त वो क्या होगा, कैसा वो समा होगा
Noot me farooqi dooba ye jahan hoga
Waqt wo kya hoga kaisa wo sama hoga

 

मसनद-ए-अर्श पे जब हसनैन का नाना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Masnad e aarsh pe jab hasnain ka nana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

 

जश्न का मन्ज़र था माहौल सुहाना था
अर्श ना क्यूँ सजता सरकार ने आना था
Jashan ka manzar tha maahol suhana tha
Arsh na kyun sajta sarkar ne aana tha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.