Naat Ka Jaam Pilaya Hai Lyrics

Naat Ka Jaam Pilaya Hai Lyrics

 

नात का जाम पिलाया है रज़ा खां तुमने

Naat Ka Jaam Pilaya Hai Raza Khan Tumne
Hamko Aaqa Se Milaya Hai Raza Khan Tumne
नात का जाम पिलाया है रज़ा खां तुमने
हमको आक़ा से मिलाया है रज़ा खां तुमने

 

Ishq Paak-e-Shahe Abrar Ka Wo Dars Diya
Khuld Ka Rasta Bataya Hai Raza Khan Tumne
इश्क पाक-ए-शहे अबरार का वो दर्स दिया
ख़ुल्द का रस्ता बताया है रज़ा खां तुमने

 

Ilm Ki Pyaas Bujhayi Hai Jahañ Se Sabne
Ilm Ka Dariya Bahaya Hai Raza Khan Tumne
इ़ल्म की प्यास बुझाई है जहां से सब ने
इ़ल्म का दरिया बहाया है रज़ा खां तुमने

 

Hamko Aaqa Se Milaya Hai Raza Khan Tumne
Ishq-e-Aaqa Bhi Sikhaya Hai Raza Khan Tumne
हमको आक़ा से मिलाया है रज़ा खां तुमने
इ़श्क़-ए-आक़ा भी सिखाया है रज़ा खां तुमने

 

Toot Kar Gir Gaya Gustakh-e-Shahe Deeñ Ka Kila
Jab Bhi Khaama Ko Uthaya Hai Raza Khan Tumne
टूट कर गिर गया गुस्ताख़-ए-शहे दीं का किला
जब भी ख़ामा को उठाया है रज़ा खां तुमने

 

Hind Me Naaib-e-Jeelañ Ka Laqab Tumko Mila
Qadri Rang Chadhaya Hai Raza Khan Tumne
हिन्द में नाइब-ए-जीलां लक़ब तुमको मिला
क़ादरी रंग चढ़ाया है रज़ा खां तुमने

 

Ahle Sunnat Ko Zaroorat Hai Qayyam Unki Phir
Har Masaib Se Bachaya Hai Raza Khan Tumne
अहले सुन्नत को ज़रूरत है क़य्याम उनकी फिर
हर मसाईब से बचाया है रज़ा खां तुमने

 

Naat Khwan: Zohaib Ashrafi
Lyrics: Molana Qayyam Raza Qadri

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.