Nigahe Faqr Mein Shane Sikandari Kya Hai Lyrics

 

 

Ik Faqr Sikhaata Hai Sayyad Ko Nakh-Cheeri

इफ़क़्र सिखाता है सैय्याद को नख़-चीरी

Ik Faqr Se Khulte Haiñ Asraar-e-JahaañGeeri

इक फ़क़्र से खुलते हैं असरार-ए-जहांगीरी

Ik Faqr Se Qaumoñ Meñ Miskeeni-o-Dilgeeri

इक फ़क़्र से कौमों में मिस्कीनी-ओ-दिलगीरी

Ik Faqr Se Mitti Meiñ Khaseeyat-e-Ikseeri

इक फ़क़्र से मिट्टी में ख़ासीयत-ए-इक्सीरी

Ik Faqr Hai Shabbeeri, Is Faqr Meñ Hai Meeri

इक फ़क़्र है शब्बीरी, इस फ़क़्र में है मीरी

Meeraas-e-Musalmaani, Sarmaaya-e-Shabbeeri

मीरास-ए-मुसलमानी, सरमाया-ए-शब्बीरी।

See Translation in English for Lyrics above ⇑

————-

See Translation in English for Lyrics below ⇓

Rahat: राहत:

Nigah-e-Faqr Meiñ Shan-e-Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Khiraaj Ki Jo Gada Ho Wo Qaisari Kya Hai

खिराज की जो गदा हो, वो क़ै-सरी क्या है

Nigahe faqr Mein Shane Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Hina: हिना:

Butoñ Se Tujh Ko Umeedeñ, Khuda Se Naumidi ×2

बुतों से तुझको उम्मीदें, ख़ुदा से नौमीदी ×२

Mujhe Bata To Sahi, Aur Kaafiri Kya Hai ×2

मुझे बता तो सही, और काफ़िरी क्या है ×२

Khiraj Ki Jo Gada Ho, Wo Qaisari Kya Hai

खिराज की जो गदा हो, वो क़ै-सरी क्या है

Nigahe Faqr Mein Shane Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Rahat: राहत:

Falak Ne UnKo A’ta Ki Hai Khwaajgi, Ke Jinheñ ×3

फ़लक ने उनको अ़ता की है ख़्वाजगी, के जिन्हें ×३

Khabar Nahiñ Rawish-e-Banda-Parwari Kya Hai

ख़बर नहीं, रविश-ए-बंदा-परवरी क्या है

Khiraj Ki Jo Gada Ho, Wo Qaisari Kya Hai

खिराज की जो गदा हो, वो क़ै-सरी क्या है

Nigah-e-Faqr Meiñ Shan-e-Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Hina: हिना:

Faqat Nigah Se Hota Hai Faisla Dil Ka ×2

फ़क़त निगाह से होता है फ़ैसला दिल का ×२

Na Ho Nigah Meiñ Shokhi To Dilbari Kya Hai

न हो निगाह में शोखी तो दिलबरी क्या है

Nigahe Faqr Mein Shane Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Rahat: राहत:

Kise Nahin Hai Tamanna-e-Sarwari Lekin ×3

किसे नहीं है तमन्ना-ए-सरवरी लेकिन ×३

Khudi Ki Maut Ho Jis Meiñ Wo Sarwari Kya Hai

खुदी की मौत हो जिस में, वोह सरवरी क्या है

Khiraj Ki Jo Gada Ho, Wo Qaisari Kya Hai

खिराज की जो गदा हो, वो क़ै-सरी क्या है

Nigah-e-Faqr Meiñ Shan-e-Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Hina: हिना:

Khush AaGayi Hai Jahañ Ko Qalandari Meri ×2

ख़ुश आगआ है जहां को कलंदरी मेरी ×२

Wagarna Sher Mera Kya Hai, Shayiri Kya Hai

व-गरना शेर में मेरा क्या है, शायरी क्या है

Rahat: राहत:

Khiraj Ki Jo Gada Ho, Wo Qaisari Kya Hai

खिराज की जो गदा हो, वो क़ै-सरी क्या है

Nigah-e-Faqr Meiñ Shan-e-Sikandari Kya Hai

निगाहे फ़क़्र में शाने-सिकंदरी क्या है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.