The Ramooz E Aashiqi Se Aashna Hazrat Owais Lyrics

 

थे रमूज़े आशिक़ी से आशना हज़रत उवैस

हो गये बिन देखे आक़ा पर फ़िदा हज़रत उवैस

The ramooz e aashiqi se aashna hazrat owais

Ho gaye bin dekhe aaqa par fida hazrat owais

 

मां की ख़िदमत में रहे मसरूफ़ वो शाम-ओ-सहर

था रज़ा-ए-ह़क़ ही जिनका मुद्दाआ हज़रत उवैस

Maa ki khidmad me rahe masroof wo sham-o-sahar

Tha raza-e-haq hi jinka mudda’aa hazrat owais

 

जल्वा ए महबूब रहता था नज़र के सामने

आपकी आँखों से था कुछ ना छुपा हज़रत उवैस

Jalwa-e-mahboob rahta tha nazar ke samne

Apki aankhon se tha kuchh na chhupa hazrat owais

 

साजिद उनको खर्का ए सरकार ए दो आलम मिला

किस क़दर खुशमुक़्द्दर खुशअदा हज़रत उवैस

Sajid unko kharka-e-sarkar –e-do alam mila

Kis qadar the kushmuqaddar khushada hazrat owais

 

हो गये बिन देखे आक़ा पर फ़िदा हज़रत उवैस

थे रमूज़े आशिक़ी से आशना हज़रत उवैस

Ho gaye bin dekhe aaqa par fida hazrat owais

The ramooz e aashiqi se aashina hazrat owais

 

थे रमूज़े आशिक़ी से आशना हज़रत उवैस

हो गये बिन देखे आक़ा पर फ़िदा हज़रत उवैस

The ramooz e aashiqi se aashina hazrat owais

Ho gaye bin dekhe aaqa par fida hazrat owais

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.