Tum Se Mera Aasra Hai Ya Mere Ghousul-Wara Lyrics

 

 

तुम से मेरा आसरा है, या मेरे ग़ौसुल वरा

Shayar: Wasim Bekhud Mandalvi | Naat e Paak

Naat Khwan:

 

तुम से मेरा आसरा है, या मेरे ग़ौसुल वरा

जानो दिल तुम पर फ़िदा है, या मेरे ग़ौसुल वरा

Tum Se Mera Aasra Hai Ya Mere Ghousul-Wara

Jaan O Dil Tum Par Fida Hai, Ya Mere Ghousul-Wara

 

 

हज़रते मौला अली का वास्ता जब दे दिया

जो भी कुछ मांगा मिला है, या मेरे ग़ौसुल वरा

Hazrat E Moula Ali Ka Wasta Jab De Diya

Jo Bhi Kuchh Manga Mila Hai, Ya Mere Ghousul-Wara

 

 

झोलियाँ खाली रहेंगी किस तरह से जब शहा !

सब को बे मांगे दिया है या मेरे ग़ौसुल वरा

Jholiyan Khali Rahengi Kis Tarah Se Jab Shaha

Sab Ko Be Mange Diya Hai Ya Mere Ghousul-Wara

 

 

औलिया की गर्दनों पर अल्लाह अल्लाह, बे गुमां

नक़्शे पा भी आपका है, या मेरे ग़ौसुल वरा

Auliya Ki Gardano Par Allah Allah,Be Guma

Naqshe Pa Bhi Aapka Hai, Ya Mere Ghousul-Wara

 

 

ख़ुश्बू तब से आ रही बेख़ुद ! क़लम से रात दिन

इस क़लम से जब लिखा, या मेरे ग़ौसुल वरा

Khushboo Tab Se Aa Rahi Bekhud ! Qalam Se Raat Din

Is Qalam Se Jab Likha, Ya Mere Ghousul-Wara

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.