Kaali kamli odne balay ka jalwa dil me hai naat lyrics

 

Ajmal Sultanpuri | Naat e Paak

Hindi and english lyrics

 

काली कमली ओढ़ने बाले का जल्वा दिल में है
रौशनी हर आँख की पुतली के काले तिल में है

Kaali kamli odne balay ka jalwa dil me hai
Roushani har ankh ki putli ke kaley til me hai

 

 

नूर है नज़रों से पोशीदा उजाला दिल में है
चाँद है बदली में लेकिन चाँदनी महफ़िल में है

Noor hai nazro(n) se poshida ujaala dil me hai
Chand hai badli me lekin chandni mahfil me hai

 

 

रौशनी मेरी नज़र में, नूर मेरे दिल में है
एक चराग़े ज़िन्दगी जलता हुआ महफ़िल में है

Roushani meri nazar me, Noor mere dil me hai
Ek charage zindagi jalta hua mahfil me hai

 

 

चाँद से तशवीह दूं क्यों रूए पाके शाह को
उनका चेहरा आईना, धब्बा महे कामिल में है

Chand se tashvih du kyo rooye paake shah ko
Unka chera aaina, dhabba mahe kamil me hai

 

 

जिस्म में है जान और ईमान मेरा जान है
मेरे सीने में है काबा और मदीना दिल में है

Jism me mere jaan aur imaan mera jaan hai
Mere sine me hai kaaba aur madina dil me hai

 

 

अपने अजमल को दिखा दीजिए हुज़ूर अपना जमाल
आप के दीदार की हसरत हमारे दिल में है

Apne ajmal ko dikha dijiye huzoor apna jamaal
Apke deedar ki hasrat hamare dil me hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.