Ya Rab Main Gunahgar Hu Tauba Qubool Ho Lyrics

 

या रब मैं गुनहगार हूं तौबा क़ुबूल हो
इस्याँ पे शर्मसार हूँ तौबा क़ुबूल हो
जां-सोज ओ दिल-फ़िगार हूं तौबा क़ुबूल हो
सर-ता-पा इन्क़िसार हूं तौबा क़ुबूल हो

 

तौबा क़ुबूल हो, मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो, मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

ग़ुज़री तमाम उम्र मेरी लहव-ओ-ल’अब में
नेकी नहीं है कोई अमल की किताब में
स्वालेह अमल भी कोई नहीं है हिसाब में
दस्ते दुआ बुलन्द है तेरी जनाब में

 

तौबा क़ुबूल हो, मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो, मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो, मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

ऐश-ओ-निशात ही में गुज़ारी है ज़िन्दगी
हर ज़ाविये से अपनी संवारी है ज़िन्दगी
मेरा खयाल ये था के जारी है ज़िन्दगी
लेकिन ये हाल अब है कि भारी है ज़िन्दगी

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तेरे करम को तेरी अता को भुला दिया
आमाल की जज़ा ओ सज़ा को भुला दिया
ताकत मिली तो कर्ब-व-बला को भुला दिया
हर ना’तबां की आह-ए-रसा को भुला दिया

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

मैं तो समझ रहा था कि दौलत है जिसके पास
उसको ना कोई ख़ौफ़ है उसको ना कुछ हरास
होगा न ज़िन्दगी में किसी वक़्त वो उदास
लेकिन ये मेरी भूल थी अब मैं हूँ महव-ए-यास

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

मैं हूँ गुनाहगार मगर तू तो है करीम
मैं हूँ सियाहकार मगर तू तो है रहीम
मैं हूँ फ़ना-पज़ीर मगर तू तो है क़दीम
मैं अदना ओ हकीर सही तू तो है अज़ीम

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो
तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

या रब तेरे करम तेरी रह़मत का वास्ता
या रब तेरी अत़ा तेरी ने’मत का वास्ता
या रब तेरे जलाल ओ जलालत का वास्ता
या रब रसूले ह़क़ की रिसालत का वास्ता

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

मैं ऐतराफ़ करता हूं अपने कुसूर का

मैं हो गया था ऐसे गुनाहों में मुब्तला

जिनकी है आख़िरत में कड़ी से कड़ी सज़ा

लेकिन मुझे तो तेरे करम से है आसरा

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

अब तेरी बन्दगी में बसर होगी ज़िन्दगी

मोड़ूंगा मुंह ना तेरी इबादत से अब कभी

अब ऐतबा करूंगा मैं तेरे रसूल की

ता-ज़िन्दगी करूंगा शरीअ़त की पैरवी

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

 

या रब मैं गुनहगार हूं तौबा क़ुबूल हो

इस्यां पे शर्मसार हूँ तौबा क़ुबूल हो

जां सोज-ओ-दिल फ़िगार हूं तौबा क़ुबूल हो

सरताबा इन्क़िसार हूं तौबा क़ुबूल हो

 

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

तौबा क़ुबूल हो मेरी तौबा क़ुबूल हो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.