Duaon Se Moula Mana Lun Hamd Lyrics

 

 

Duaon Se Moula Mana Lun Tujhe Mein
Pareshan Dil Me Basa Lun Tujhe Mein

 

Gunahon Ki Lat Me Jiye Jaa Raha Hun
Hidayat Ko Ya Rab Pukarun Tujhe Mein

 

Mai Jo Raah e Taqwa Pe Chalne Laga Hun
To Shamme Faroza Bana Lun Tujhe Mein

 

Khayanat Se Nazarein Bachane Ki Khatir
Nigahon Ka Surma Bana Lun Tujhe Mein

 

Dile Be Sukoo.n Ko Sukoo.n De Ilahi
Shabe Gham Me Ro Kar Mana Lun Tujhe Mein

 

Ibadat Me Pahli Si Lazzat Nahin Hai
To Shouq e Bilali Bana Lun Tujhe Mein

 

Dile Baar Ka Bojh Kam Kar De Moula
Siyaah Dil Me Hardam Saja Mere Moula

 

Hua Dar-Badar Ishq Me Tere Saalik
Nigahen Karam Kar To Paa Lun Tujhe Mein

 

 

दुआओं से मौला मना लूं तुझे मैं
परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

गुनाहों की लत में जिए जा रहा हूं
हिदायत को या रब पुकारूँ तुझे मैं

परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

मैं जो राह ए तक़वा पे चलने लगा हूँ
तो शम्मे फ़रोज़ा बना लूं तुझे मैं

परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

ख़्यानत से नज़रें बचाने की ख़ातिर
निगाहों का सुर्मा बना लूं तुझे मैं

परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

दिले बे सुकूँ को सुकूँ दे इलाही
शबे ग़म में रो कर मना लूं तुझे मैं

परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

इबादत में पहली सी लज़़्ज़ नहीं है
तो शौक़ ए बिलाली बना लूं तुझे मैं

परेशान द़िल में बसा लूं तुझे मैं

 

दिले बार का बोझ कम कर दे मौला
सियाह दिल में हरदम सजा लूं तुझे मैं

परेशान दिल में बसा लूं तुझे मैं

 

हुआ दर-बदर इश्क़ में तेरे सालिक
निगाहें करम कर तो पा लूं तुझे मैं

परेशान दिल में बसा लूं तुझे मैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.